Diarrhoea - Subhash Goyal

Diarrhoea

Diarrhoea / दस्त

Diarrhoea / दस्त Ayurvedic Treatment

Definition

It is basically when the bowel movements become loose or watery and passing the stool 3 times or more per day. This condition is called as diarrhoea.
In this condition, the lining of the intestine is unable to absorb the fluid actively.

Causes:

Diarrhoea have many different causes as,

  • infection due to virus/bacteria
  • diet change
  • drinking excessive amount of alcohol
  • due to use of some antibiotics (or some diabetes medicines )
  • Malabsorption due to worm infestation
  • Stress / Anxiety
  • Junk food
  • Due to any kind of disease ( IBS, ulcerative colitis, colic diseases)

Sypmtoms

  • painful abdominal cramps
  • fever
  • vomitting
  • Pain in body
  • flatulence
  • generalised weakness
  • Fatigue
  • Thirst
  • Vertigo
  • Dry mouth
  • sunken eyes
  • headache

परिभाषा

गुदामार्ग से द्रवयुक्त मल का बार बार निकलना ही अतिसार कहलाता है ।

कारण / निदान:

  • दूषित आहार
  • अधिक मात्रा में आहार के सेवन से
  •  दूषित मद्यपान के सेवन से
  •  विभिन्न प्रकार की औषध सेवन से
  •  कृमि रोग के कारण
  •  अत्याधिक चिंता/क्रोध के कारण
  •  बाहर के आहार के अतिमात्रा के प्रयोग से
  •  किसी रोग के कारण भी अतिसार हो सकता है

सामान्य लक्षण

  • उदर में अधिक मात्रा में शूल होता है।
  • ज्वर
  • छर्दि
  • तृष्णा (अधिक मात्रा में प्यास लगना)
  • मूर्छा
  • शरीर में कमज़ोरी
  • अंगों में दर्द
  • आटोप
  • आलस्य

यदि आप इस रोग से छुटकारा पाना चाहते हैं तो कॉल करें विद्वान आयुर्वेदाचार्य से बात करें

+91-9465111393, 0172-4606414